test
Home क्राइम झारखंड स्पेनिश महिला से गैंग रेप, स्पेनिश महिला का बयान आया सामने।...

झारखंड स्पेनिश महिला से गैंग रेप, स्पेनिश महिला का बयान आया सामने। मेरे साथ-सात लोगों ने बलात्कार किया, मेरे पति को मारा पीटा,झारखंड स्पेनिश महिला से गैंग रेप, स्पेनिश महिला का बयान आया सामने। मेरे साथ-सात लोगों ने बलात्कार किया, मेरे पति को मारा पीटा,झारखंड स्पेनिश महिला से गैंग रेप, स्पेनिश महिला का बयान आया सामने। मेरे साथ-सात लोगों ने बलात्कार किया, मेरे पति को मारा पीटा,

झारखंड स्पेनिश महिला से गैंग रेप, स्पेनिश महिला का बयान आया सामने। मेरे साथ-सात लोगों ने बलात्कार किया, मेरे पति को मारा पीटा,

स्पेनिश पीड़ित महिला ने एफआईआर में बताया है कि सातों आरोपियों ने उसके पति के साथ मारपीट की और उसके साथ बलात्कार किया। पीतांबर सिंह खेरवार ने कहा कि महिला का मेडिकल टेस्ट कराया गया और इसमें बलात्कार की पुष्टि हुई हैं। उन्होंने कहा कि अपराध में शामिल सात लोगों में से तीन को जेल भेज दिया गया है और अन्य चार को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

ये हैं स्पेन की रहने वाली पीड़िता का बयान

मेरा नाम … हैं। उम्र-28 वर्ष, डी/ओ…, पता-…स्पेन है। आज दिनांक 2 मार्च को मैंने महिला थाना (दुमका) की महिला पुलिस पदाधिकारी के समक्ष बिना किसी डर या भय के अपना बयान दर्ज कराया है। मैं बयान करती हूं कि मैं और मेरे पति कुछ महीने पहले दो अलग-अलग मोटरसाइकिलों पर विश्व भ्रमण पर निकले थे। जुलाई 2023 के मध्य में हमने पाकिस्तान से अमृतसर के रास्ते भारत का दौरा किया। इस दौरान हम जम्मू और कश्मीर सहित उत्तरी भारत और दक्षिणी भारत के कई राज्यों में गए। लगभग दो सप्ताह पहले हम पश्चिम बंगाल पहुंचे और हमने कोलकाता में 3 दिन बिताए।

1 मार्च को सुबह लगभग 8 बजे हम कोलकाता से झारखण्ड और बिहार राज्य होते हुए नेपाल के लिए निकले। आज की यात्रा के दौरान हम झारखंड के दुमका जिले के हंसडीहा थाना क्षेत्र के कुरमाहाट गांव पहुंचे। चूंकि काफी देर हो चुकी थी, इसलिए हमने मुख्य सड़क से लगभग 1 किमी उत्तर पूर्व में काज़ी बस्ती के पास के वन हिल में एक अस्थायी तम्बू स्थापित करने और रात भर रहने का निर्णय लिया। शाम करीब 7 बजे, जब हम अपने तंबू के अंदर ठंड महसूस कर रहे थे तो हमें कुछ संदिग्ध आवाजें सुनाई दीं। जैसे ही हम अपने तंबू से बाहर आए तो हमने देखा कि लोग फोन पर कुछ बात कर रहे हैं।

कुछ लोग दो मोटरसाइकिल पर आते हैं। कुल 7 लोग मौके पर पहुंच जाते हैं। वे कुछ क्षेत्रीय भाषा में भी बात कर रहे थे और कुछ अंग्रेजी शब्दों का भी इस्तेमाल कर रहे थे। इसी बीच उनमें से कुछ लोग मेरे पति से झगड़ने लगे। फिर उन्होंने उसे मारा और दोनों पैर और हाथ बांध दिये। बाकी 4 लोगों ने मुझे कट्टा दिखाकर जबरदस्ती उठा लिया। वे मुझे जंगल के पास ले गए और मुझे लात मारी, मुक्का मारा और बार-बार बलात्कार किया। जिस 03 व्यक्ति ने मेरे पति को बांधा था, वह भी आ गया और बारी-बारी से मेरे साथ बलात्कार किया। सभी सात 7 लोगों ने मेरे साथ बार-बार दुष्कर्म किया और शारीरिक उत्पीड़न किया। उन्होंने मेरे पति का स्विस चाकू, मेरी कलाई घड़ी (जर्मन स्मार्ट घड़ी), हीरे से जड़ित प्लैटिनम की अंगूठी, एक चांदी की अंगूठी, एक काला ईयरपॉड, एक काला पर्स और क्रेडिट कार्ड भी छीन लिया। सभी सात लोगों में से एक व्यक्ति लगभग 28 -30 वर्ष का था, जिसने सफेद टी-शर्ट पहन रखी थी, जबकि बाकी सभी युवा वयस्क हैं।

वे सभी हल्के नशे में लग रहे थे। घटना शाम करीब साढे़ सात बजे की है। हमारे साथ बलात्कार और मारपीट करने के बाद वे गांव की ओर भाग जाते हैं। घटना के बाद हम लोग अपनी मोटरसाइकिल लेकर किसी तरह मुख्य सड़क पर आये। रात करीब 11 बजे हंसडीहा पुलिस की रात्रि गश्ती दल ने हमें देखा और हमारी सहायता के लिए आये। जब हमने उन्हें घटना के बारे में बताया तो हंसडीहा पुलिस तुरंत हमें प्राथमिक चिकित्सा के लिए नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरैयाहाट (दुमका) ले गई। मुझे पूरा यकीन है कि हम दोनों पत्नी-पति सातों दोषियों के चेहरे दोबारा देखकर उनकी पहचान कर सकते हैं। यह मेरा कथन है जिसे मैंने पढ़ा, सुना और समझा है तथा सही ढंग से अपने हस्ताक्षर किये हैं।

28 साल की स्पेनिश महिला और 64 साल का उसका पति बांग्लादेश से अलग-अलग बाइक टूर पर निकले थे और वो झारखंड के रास्ते नेपाल जा रहे थे। इसी दौरान स्पेन की महिला के साथ शुक्रवार की देर रात गैंगरेप की घटना हुई थी।

Exit mobile version